Go to the profile of  Rishabh Verma
Rishabh Verma
1 min read

कांग्रेस में शामिल हुई उर्मिला मातोंडकर के पति मोहसिन मीर हैं कश्मीरी, 2016 में हुआ था निकाह

कांग्रेस में शामिल हुई उर्मिला मातोंडकर के पति मोहसिन मीर हैं कश्मीरी, 2016 में हुआ था निकाह

चुनावों को देखते हुए हर पार्टी मनोरंजन जगत के ग्लैमरस चेहरों को अपने पाले में करने की जुगत में है। इसी कड़ी में हिंदी फिल्म जगत की नब्बे के दशक की ग्लैमरस अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर ने कांग्रेस पार्टी का दामन थाम लिया है। उर्मिला के लिए राजनीति भले नई हो पर उन्होंने अपने करियर में खूब उतार चढ़ाव देखे हैं। उर्मिला को अपने करियर में कभी नंबर 1 का स्थान नहीं मिला और वे ज्यादातर फिल्मों में अपने ग्लैमरस अंदाज को ही दिखाती हुई नजर आयीं। उर्मिला ने शादी 42 वर्ष की आयु में साल 2016 में एक कश्मीरी युवक से की।

उर्मिला के पति कश्मीरी मुस्लिम हैं और उनका नाम मोहसिन मीर अख्तर है। मोहसिन उम्र में उर्मिला से 9 साल छोटे हैं। उर्म‍िला ने एक बड़े प्राइवेट सेरेमनी में शादी रचाकर सबको हैरान कर दिया था। विकिपीडिया के अनुसार शादी से पहले उर्मिला ने इस्लाम कबूल कर लिया था और उनका नाम मरियम अख्तर मीर रखा गया। उसके बाद उन्होंने 3 मार्च 2016 को मोहसिन मीर अख्तर से शादी रचाई।

उर्मिला मातोंडकर अपने बिजनेसमैन बॉयफ्रेंड मोहसिन मीर अख्तर के साथ बहुत दिनों तक रिलेशनशिम में रहीं और एक दुसरे को डेट करती रही और फिर आखिर कार 2016 में दोनों ने शादी की थी। उर्मिला और मोहसिन की पहली मुलाकात कॉमन फ्रेंड फैशन डिजायनर मनीष मल्होत्रा के माध्यम से हुई थी।

उर्मिला के पति मोहसिन अख्तर मीर, कश्मीर के बिजनेसमैन और मॉडल हैं। उनका कपड़ों का व्यापार है। व्यापार के साथ साथ उनका अभिनय जगत से भी नाता है और उन्होंने जोया अख्तर की फिल्म 'लक बाय चांस' में अभि‍नय भी किया है।

मोहसीन और उर्मिला की शादी में सिर्फ परिवार के कुछ लोग ही शामिल हुए थे।  फिल्म उद्योग से सिर्फ मनीष मल्होत्रा इस शादी में शामिल हुए थे जो दोनों के साथ अच्छे सम्बन्ध रखते हैं। अपनी शादी को प्राइवेट रखने पर उर्मिला ने तब कहा था- ''हमने वेडिंग सेरेमनी सिर्फ परिवार और दोस्तों के बीच ही रखी, क्योंकि हमारा परिवार चाहता था कि हम इसे ज्यादा शोर-शराबे वाला इवेंट ना रखें।यही कारण है कि हमने चंद लोगों को ही बुलाया।”

बहरहाल बता दें की उर्मिला और मोहसिन की शादी हिन्दू और मुस्लिम दोनों रीती रिवाज़ों से हुई थी। पहले जहाँ शादी हिन्दू तरीकों से हुई वही बाद में इस्लामिक तरीके से निकाह भी पढ़ा गया था। निकाह के वक़्त जैसी परंपरा है की लड़का लड़की दोनों का मुस्लिम होना जरुरी है तो क्या उर्मिला ने भी इस्लाम कबूल कर अपना नाम इस्लामिक किया था इस बारे में कोई जानकारी बाहर नहीं आ पाई पर इतना तो है की निकाह के लिए अन्य मजहब के लोगों को इस्लाम में आना पड़ता है।