Go to the profile of  Prabhat Sharma
Prabhat Sharma
1 min read

बम धमाकों के बाद श्रीलंका की कार्रवाई: 200 इस्लामिक धर्म गुरुओं पर जुर्माना लगा देश से निकाला

बम धमाकों के बाद श्रीलंका की कार्रवाई: 200 इस्लामिक धर्म गुरुओं पर जुर्माना लगा देश से निकाला

ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में गिरजाघरों और फाइव स्टार होटलों में पर हुए आत्मघाती हमलों में एक के बाद एक आठ बम धमाके हुए थे जिसे श्रीलंका में हुआ अभी तक सबसे घातक आतंकी हमला बताया गया था। इन बम धमाकों में 250 से ज्यादा लोग मारे गए थे वही करीब 500 लोग घायल भी हुए थे। इस हमले को लेकर भारतीय एजेंसी ने श्रीलंका को धमाकों से कुछ घंटे पहले ही आगाह कर दिया था फिर भी यह हमला हो गया। अब इस हमले को ले कर जांच बृहत् पैमाने पर चल रही है जिसके कारण कई संदिग्धों पर कार्यवाही हो रही है।

श्रीलंका की जांच एजेंसियाँ ख़ास तौर पर धमाकों के बाद देश में रह रहे आतंकियों के साथ ही साथ कट्टरपंथियों पर भी अपना शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। खबरों के अनुसार, श्रीलंका में जांच के बाद से अब तक 200 मौलवियों समेत 600 से ज्यादा विदेशी नागरिकों को देश से बाहर निकाला दिया गया है। इस तरह से देश निकाला पाने वाले लोगों  में भारत, बांग्लादेश, पाकिस्तान और मालदीव के रहने वाले मुस्लिम धर्मगुरु और नागरिक शामिल हैं। जानकारी दे दें की श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हुए इन सीरियल धमाकों में 11 भारतीयों की भी मौत हो गई थी।

बहरहाल जांच के बाद देश निकाला दिए जाने पर श्रीलंका के गृह मंत्री वाजिरा अभयवर्धने ने बताया कि ये सभी मौलाना आए तो वैध रूप से थे, पर सुरक्षा जांच में ये पाया गया है कि उन सब की वीजा अवधि खत्म हो गई है और इसके बावजूद भी वे अभी तक देश में रुके हुए थे। श्रीलंका सरकार ने इन मौलानाओं को ना सिर्फ देश से निकाला है बल्कि इन पर जुर्माना भी लगाया है।

श्रीलंका के गृह मंत्री वाजिरा ने इसके साथ ही यह भी बताया की वे आप अपने देश की वीजा प्रणाली की समीक्षा नए सिरे से कर रहे हैं तथा अब वे धार्मिक शिक्षकों के लिए वीजा प्रतिबंध को कड़ा करने का निर्देश भी देने की सोच रहे हैं।