Go to the profile of  Nikhil Talwaniya
Nikhil Talwaniya
1 min read

सचिन पायलट को लेना चाहिए मेरे बेटे की हार की ज़िम्मेदारी: अशोक गहलोत

सचिन पायलट को लेना चाहिए मेरे बेटे की हार की ज़िम्मेदारी: अशोक गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने बेटे को जोधपुर सीट पर मिली हार के लिए सचिन पायलट को ज़िम्मेदार बताया है। उन्होंने कहा कि सचिन को उनके बेटे की हार की ज़िम्मेदारी लेनी चाहिए। सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री के इस बयान पर हैरानी जताते हुए कोई भी टिप्पणी करने से इंकार किया है।

इन लोकसभा चुनावों में राजस्थान में कांग्रेस को करारी हार मिली है। इसके कारण पार्टी के नेताओं के बीच खींचातानी बढ़ गई है। राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे ने जोधपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था लेकिन वे हार गए। उन्हें भाजपा के गजेंद्र सिंह शेखावत ने 2.74 लाख वोट से हरा दिया था। एक इंटरव्यू में अशोक गहलोत ने सचिन पायलट को इस हार का ज़िम्मेदार ठहराते हुए कहा कि सचिन पायलट ने कहा था कि जोधपुर से उनका बेटा बड़े अंतर से जीतेगा। उन्होंने कहा कि इस सीट का पूरी तरह से पोस्टमार्टम किया जाना चाहिए ताकि यह पता लग सके कि हम यहाँ से क्यों नही जीते।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के अनुसार पायलट ने उनको कहा था कि हम जोधपुर से जीत रहे हैं। इसलिए वैभव को टिकट दिया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई कह रहा है कि मुख्यमंत्री और पीसीसी प्रमुख को हार की ज़िम्मेदारी लेना चाहिए, लेकिन मेरा मानना है कि ये सबकी ज़िम्मेदारी है। ग़ौरतलब है कि कांग्रेस राजस्थान की पूरी 25 सीटें 2019 के लोकसभा चुनावों में हार गई थी।

अशोक गहलोत ने उनके और सचिन पायलट के बीच न बनने की बात को ग़लतफहमी बताया है। उन्होंने मीडिया से कहा, "जब सचिन पायलट यह कहते हैं कि मैंने जबान दी है वैभव गहलोत की, जोधपुर से टिकट देने की, फिर कहाँ हमारे बीच मतभेद हैं, ये समझ से परे है।" सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच मतभेद होने की बात ने उस समय पकड़ लिया था जब सचिन के कुछ सहयोगियों ने हार के लिए अशोक गहलोत के काम करने के तरीके को ज़िम्मेदार बता दिया था।