Go to the profile of  Nikhil Talwaniya
Nikhil Talwaniya
1 min read

भारत के इतिहास से संबंधित बेशकीमती ‘कोहिनूर हीरे’ पर पाकिस्तान ने किया अपना दावा

भारत के इतिहास से संबंधित बेशकीमती ‘कोहिनूर हीरे’ पर पाकिस्तान ने किया अपना दावा

कोहिनूर हीरे के बारे में हर कोई जानता है। यह हीरा दुनिया का सबसे बेशकीमती हीरा माना जाता है। यह एक 105 कैरेट का हीरा है जो एक समय पर दुनिया का सबसे बड़ा ज्ञात हीरा रह चुका है। इस हीरे को भारत में स्थित गोलकुंडा की खान से निकाला गया था। यह हीरा इतिहास में कई राजाओं के पास रहा और वर्तमान में यह ब्रिटेन में है और इसे ब्रिटेन की महारानी अपने मुकुट में पहनती है। हालांकि इस हीरे पर भारत पाकिस्तान और अफग़ानिस्तान तीनो ही देश अपना दावा करते रहते हैं।

पाकिस्तान के वर्तमान सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने हाल ही में इस बाबत ब्रिटेन से कहा कि वह कोहिनूर हीरा पाकिस्तान को वापस लौटा दे। इसके साथ ही चौधरी ने इस मांग का भी समर्थन किया कि ब्रिटिश साम्राज्य को आज़ादी के पहले आये बंगाल के अकाल और जालियांवाला बाग नरसंहार के लिए पाकिस्तान, भारत और बांग्लादेश से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने इन घटनाओं को ब्रिटेन के चेहरे पर दाग की तरह बताया है। इन सब के साथ साथ उन्होंने कोहिनूर हीरे को भी लाहौर संग्रहालय को लौटा देने की बात कही है।

पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी का ये पूरा बयान ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे के जालियांवाला बाग नरसंहार पर दिए बयान के बाद आया। अपने बयान में उन्होंने कहा था की “जालियांवाला बाग नरसंहार को ब्रिटिश इंडियन इतिहास के लिए शर्मनाक धब्बा है” इसके साथ ही साथ उन्होंने ब्रिटिश सेना की इस कार्रवाई के लिए खेद भी जताया था। ब्रिटिश पीएम थेरेसा ने इस बाबत बुधवार को ब्रिटिश पार्लियामेंट में कहा, "हम जो कुछ हुआ और इससे जो पीड़ा पहुंची, उसके लिए गहरा खेद जताते हैं।"