Go to the profile of  Rishabh Verma
Rishabh Verma
1 min read

फारूक अब्दुल्ला ने कहा “अगर अनुच्छेद 370 हटा तो अल्लाह की कसम हम भारत से आज़ाद हो जायेंगे”

फारूक अब्दुल्ला ने कहा “अगर अनुच्छेद 370 हटा तो अल्लाह की कसम हम भारत से आज़ाद हो जायेंगे”

नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने भाजपा के अपने चुनावी घोषणा पत्र में आर्टिकल 370 को ख़त्म करने के वादे पर कड़ी आपत्ति जाहिर की है। फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि यदि ऐसा हुआ तो अल्लाह की कसम हम भारत से आज़ाद हो जायेंगे।

भारतीय जनता पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र के आने के बाद कश्मीर की दो प्रमुख पार्टियाँ पी डी पी और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने भाजपा के आर्टिकल 370 समाप्त करने के वादे के कारण इसका काफी विरोध कर रही हैं। फारूक अब्दुल्ला ने कहा “बाहर से लायेंगे, बसायेंगे, हम सोते रहेंगे? हम इसका मुकाबला करेंगे, 370 को कैसे ख़तम करोगे? अल्लाह की कसम खाता हूँ, अल्लाह को यही मंज़ूर होगा, हम इनसे आज़ाद हो जायेंगे। करें… हम भी देखते हैं। देखता हूँ फिर कौन इनका झंडा खड़ा करने के लिए तैयार होगा।”

संविधान का आर्टिकल 370 जम्मू कश्मीर को एक विशेष राज्य का दर्जा देता है। इसके अंतर्गत जम्मू कश्मीर को रक्षा, संचार, वित्त और विदेशी मामलों को छोड़कर बाकी मामलों में स्वायत्तता प्रदान की गई है। जम्मू कश्मीर को दिए गए विशेष दर्जे के कारण ही इस पर धारा 356 के द्वारा राष्ट्रपति शासन लागू नही किया जा सकता। इस राज्य में देश के अन्य राज्यों के नागरिक ज़मीन नही ख़रीद सकते। इसके अलावा अन्य भी कई बातें हैं जो कश्मीर में रह रहे लोगों और भारत के लिए चुनौतियां पैदा करती हैं।

भाजपा के अनुसार आर्टिकल 370 की समाप्ति पकिस्तान और अलगावादियों के लिए मुहतोड़ जवाब होगी। राज्य के भाजपा प्रवक्ता प्रोफेसर वीरेंदर गुप्ता ने कहा आर्टिकल 370 को समाप्त करके उसे अन्य राज्यों के सामान दर्जा देना ही इस राज्य की समस्याओं का वाजिब समाधान है। उन्होंने आगे कहा कि यही एक तरीका है जिसके द्वारा प्रदेश के लोगों को देश की मुख्य धारा में शामिल किया जा सकता है। भाजपा के इस क़दम ने देश में एक गर्मा-गरम बहस को छेड़ दिया है। अब देखना ये है कि भारत का मतदाता भाजपा के इस कदम से किस हद तक प्रभावित हो पाता है।