Go to the profile of  Nikhil Talwaniya
Nikhil Talwaniya
1 min read

शास्त्री जी पर फिल्म बनाने वाले विवेक अग्निहोत्री को मिली धमकियां, फिल्म रिलीज ना करने का दवाब

शास्त्री जी पर फिल्म बनाने वाले विवेक अग्निहोत्री को मिली धमकियां, फिल्म रिलीज ना करने का दवाब

देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की रहस्यमय मौत पर बनी फिल्म ‘द ताशकंद फाइल्स’ की रिलीज पर अभी भी संकट के बादल छाए हुए है। इस फिल्म की स्क्रीनिंग को रोकने के लिए फिल्म के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री को धमकी भरे कॉल्स भी आ रहे है। विवेक ने कहा कि फिल्म को रोकने के लिए उन्हें एक क़ानूनी नोटिस भेजा गया है जिसमे कहा गया है कि ट्रेलर देखने के बाद शास्त्री जी की मौत पर अनावश्यक विवाद खड़ा करने की कोशिश की गयी है। विवेक ने बताया कि उन्हें यह नोटिस लाल बहादुर शास्त्री जी के पोते और वरिष्ठ कांग्रेस नेता विभाकर शास्त्री और दिवाकर शास्त्री ने भेजा है।

विवेक का मानना है कि पार्टी एजेंडा को सम्भालते हुए विभाकर शास्त्री और दिवाकर शास्त्री ने यह नोटिस फिल्म की रिलीज को रोकने के लिए भेजा है। विवेक ने कहा कि 7 अप्रैल को दिल्ली के चाणक्यपुरी में फिल्म का प्रीव्यू रखा था उसमे शास्त्री परिवार के करीबन 25 लोग मौजूद थे। फिल्म देखने के बाद विभाकर शास्त्री ने कहा कि इस ईमानदार और बेहतरीन फिल्म बनाने के लिए हम आपके आभारी रहेंगे। उसके बाद विभाकर शास्त्री के क़ानूनी नोटिस से में अचरज में पड़ गया। विवेक ने कहा कि उन्हें क़रीबी सूत्रों से पता चला है विभाकर शास्त्री ने ये नोटिस कांग्रेस के ‘शीर्ष परिवार’ के दबाव में किया है।

विवेक ने कहा 'हम चाहते हैं कि इस फिल्म के बाद एक जांच बैठाई जाए और पूरी दुनिया को ये पता चले कि आखिर शास्त्री जी को हुआ क्या था और उन्हें किसने मारा था और आखिर हमारे पूर्व प्रधानमंत्री की हत्या का कारण क्या था।' विवेक अग्रिहोत्री ने बताया कि 'कई इंटरनेशनल एजेंसियों ने शास्त्री जी की मौत पर सवाल उठाए हैं लेकिन उनसे जुड़े किसी भी सवाल के जवाब को नहीं दिया गया है इतना ही नही लाल बहादुर शास्त्री की पत्नी हमेशा सरकारी अधिकारियों से उनकी मौत से जुड़े दस्तावेज़ों और पोस्टमॉर्ट्म रिपोर्ट्स की मांग करती रही है लेकिन उन्हें कुछ भी प्रदान नहीं किया गया है।

Loading...