Go to the profile of  Nikhil Talwaniya
Nikhil Talwaniya
1 min read

भारतीय जनता पार्टी के वो बड़े चेहरे जो 'मोदी 2.0' में नहीं हो पाए शामिल

भारतीय जनता पार्टी के वो बड़े चेहरे जो 'मोदी 2.0' में नहीं हो पाए शामिल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार दोबारा बन गयी है। पीएम मोदी ने बहुत ही समझदारी से अपने नए मंत्रिमंडल का चुनाव किया है। उन्होंने इसमें प्रत्येक वर्ग की हिस्सेदारी रहे इसका पूरा ध्यान रखा है। बहरहाल नए मत्रिमंडल में एक तरफ जहाँ कई ऐसे चहरे मौजूद हैं जो काफी पुराने है तो वहीं कुछ ऐसे बड़े चेहरे अनुपस्थित भी हैं जो पिछली सरकार में बड़े मंत्री के तौर पर अपनी सेवायें दे चुके हैं।

चलिए आपको बता दे की ऐसे कौन से चेहरे है जो पहले मंत्री थे और अब उनकी छुट्टी कर दी गयी है।

अरुण जेटली

अरुण जेटली पिछली सरकार में वित्त मंत्री के तौर पर कार्यरत थे।  लेकिन उनकी तबीयत ख़राब होने के चलते इस बार वह मंत्रीमंडल में शामिल नहीं है।

सुषमा स्वराज

सुषमा स्वराज को पिछली सरकार में विदेश मंत्रालय सौंपा गया था। इस सरकार में सुषमा भी शामिल नहीं है। कहा जा रहा है की इसके पीछे उनकी सेहत का ख़राब होना बड़ा कारण रहा है।

मेनका गांधी

मेनका गांधी इस बार सुल्तानपुर लोकसभा सीट से जीती है। बता दें कि मेनका पिछले चुनाव में पीलीभीत से जीती थीं और केंद्रीय मंत्री बनी थी। परन्तु इस सरकार में मेनका गांधी को कोई जगह नहीं दी गयी है।

सुरेश प्रभु

सुरेश प्रभु को पिछली सरकार में केंद्रीय रेलमंत्री बनाया गया था फिर उन्हें वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री भी बनाया गया। परन्तु नई सरकार में सुरेश प्रभु को शामिल नहीं किया गया है।

उमा भारती

उमा भारती पिछली सरकार में केंद्रीय मंत्री थीं। इस बार उन्हें भी नई सरकार में जगह नहीं मिली है।  

शिव प्रताप शुक्ल

शिव प्रताप शुक्ल भी बीजेपी के बड़े नेताओं में गिने जाते हैं। बता दें कि पिछली सरकार में शिव प्रताप शुक्ल केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री थे। परन्तु इस बार इन्हें भी मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है।

रामकृपाल यादव

रामकृपाल यादव जिन्होंने पाटलिपुत्र सीट से लालू यादव की बेटी मीसा भर्ती को हराया है उन्हें भी इस बार मंत्री नहीं बनाया गया है। पिछली सरकार में वह केंद्रीय मंत्री थे।

अनंत कुमार हेगड़े

मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में अनंत कुमार हेगड़े केंद्रीय मंत्री थे।  हमेशा से हेगड़े अपने बयानों के कारण चर्चा में रहते हैं। लेकिन इस बार उन्हें भी मंत्रीमंडल में शामिल नहीं किया गया है।

मनोज सिन्हा

मनोज सिन्हा पिछली सरकार में मंत्री थे। वह गाजीपुर से चुनकर आए थे।  इस बार जहाँ वे चुनाव भी हारे हैं और साथ ही साथ उन्हें मंत्रिमंडल में भी स्थान नहीं मिला है।

जयंत सिन्हा

जयंत सिन्हा ने पहले केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री और फिर बाद में केंद्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री का कार्यभार संभाला था, परन्तु इस बार इन्हें भी मंत्रिमंडल में स्थान नहीं मिला है।

जे पी नड्डा

जे पी नड्डा पहले स्वास्थ्य मंत्री के तौर पे कार्यरत थे  लेकिन इस बार वह भी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं है।

राज्यवर्धन सिंह राठौर

राठौर पूर्व ओलंपियन और खेल व सूचना और प्रसारण मंत्रालय का सफलता पूर्वक कार्यभार संभाला था लेकिन उन्हें भी मंत्रिपरिषद में जगह नहीं मिली है।

महेश शर्मा

महेश शर्मा पिछली सरकार में केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति मंत्री थे। इस बार उन्हें भी मंत्रिमंडल में नहीं लिया गया है।