Go to the profile of  Prabhat Sharma
Prabhat Sharma
1 min read

शिवसेना की पीएम मोदी से मांग, श्रीलंका से सीख लेकर राष्ट्रहित में लगाएँ पूरे देश में बुर्के पर पाबंदी

शिवसेना की पीएम मोदी से मांग, श्रीलंका से सीख लेकर राष्ट्रहित में लगाएँ पूरे देश में बुर्के पर पाबंदी

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में एक लेख लिखा है जिसमे श्रीलंका सरकार के बुर्का और नक़ाब सहित चेहरा ढंकने वाली हर चीज पर प्रतिबंध लगाने के फैसले का स्वागत किया गया है साथ ही इस लेख में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बुर्के पर प्रतिबंध की मांग की है।

सामना में छपे इस संपादकीय में लिखा गया कि श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाल सिरिसेना ने श्रीलंका में हुए बम धमाकों के बाद पूरे देश में बुर्के और नकाब पर पाबंदी लगा दी है। उन्होंने यह कदम राष्ट्रीय सुरक्षा को देखते हुए लिया है और प्रधानमंत्री मोदी को भी श्रीलंका के राष्ट्रपति के कदमों पर चलते हुए हिंदुस्तान में ‘बुर्का’और उसी तरह बैन लगा देना चाहिए, साथ ही यह भी लिखा गया की ऐसी मांग राष्ट्रहित के लिए की जा रही है।

शिवसेना भारतीय जनता पार्टी की सहयोगी और महाराष्ट्र की प्रमुख पार्टी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अयोध्या के लिए निकले हैं ये देखते हुए यह सवाल उठाया जा रहा है कि रावण की लंका में जो हुआ वो राम की अयोध्या में कब होगा?

मुखपत्र सामना में कहा गया है कि जब फ्रांस, न्‍न्यूजीलैंड, ऑस्‍ट्रेलिया, ब्रिटेन और श्रीलंका जैसे देश बुर्के पर प्रतिबंध जैसा कड़ा कदम राष्ट्रहित के लिए उठा सकते हैं तो भारत क्यों नही ये कदम उठा सकता? शिवसेना ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एयर स्ट्राइक की तरह ही बुर्के और नकाब पर प्रतिबंध लगाने के लिए हिम्मत दिखानी होगी।

शिवसेना ने कहा एक तो असंख्य मुस्लिम युवतियां बुर्का नहीं पहनना चाहती हैं और दूसरी बात ये है कि बुर्के की आड़ में क्या चल रहा होता है इसका अनुमान नहीं लगाया जा सकता। शिवसेना के अलावा हाशिए पर पड़े दक्षिणपंथी समूह हिन्दू सेना ने भी गृह मंत्रालय को पत्र लिख कर मांग की है कि आतंकवादी हमलों को रोकने के लिए श्रीलंका की तर्ज पर सार्वजनिक स्थानों और सरकारी तथा निजी संस्थानों में बुर्का, नकाब आदि पर पूर्ण रोक लगायी जाए।

Loading...