Go to the profile of  Prabhat Sharma
Prabhat Sharma
1 min read

चीन के सामने ही भारतीय अधिकारियों ने की पाकिस्तान की बोलती बंद, आतंकवाद पर पूछे कठोर सवाल

चीन के सामने ही भारतीय अधिकारियों ने की पाकिस्तान की बोलती बंद, आतंकवाद पर पूछे कठोर सवाल

भारत पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर हर जगह बेनकाब करने के नीति पर मज़बूती से कायम है। भारत ने वैश्विक समुदाय के सामने एक बार फिर पाकिस्तान को धूल चटाया है। भारत ने टेरर फाइनेंसिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में पाकिस्तानी अधिकारियों से तीखे सवाल पूछे जिनका उनके पास कोई जवाब नही था।

भारत ने एशिया-पैसिफिक ग्रुप (APG) की फेस-टू-फेस मीटिंग में विश्व के सामने पाकिस्तान को कटघरे में खड़ा किया। पाकिस्तान का प्रतिनिधि मंडल भारतीय अधिकारियों के किसी भी सवाल का कोई माकूल जवाब नही दे पाया। ग़ौर करने लायक बात ये थी कि भारत ने ये सवाल पाकिस्तान के मित्र देश चीन में ही पूछे।

बैठक में हिस्सा ले रहे भारतीय अधिकारियों से बैन आतंकी संगठनों पर कार्यवाही के बारे में पाकिस्तान से सवाल किये। आतंकवाद पर भारत के द्वारा उठाये गए गंभीर सवालों पर पाकिस्तानी अधिकारियों के द्वारा कोई संतुष्टिदायक जवाब नही दिया गया।

पाकिस्तान ने APG को कुछ बैन हुए आतंकी संगठनों के कुछ आतंकवादियों को पकड़ने की सूचना दी है। पाकिस्तान के अनुसार उसने प्रमुख आतंकी संगठनों के साथ उनके सहयोगी संगठनों को भी प्रतिबंधित संगठनों की सूची में शामिल किया है। पाकिस्तानी सरकार ने उनके बैंक खातों को बंद कर दिया है तथा उनका वित्तीय प्रवाह भी बाधित कर दिया है।सरकार ने ऐसे आतंकियों की संपत्ति पर भी कब्ज़ा कर लिया है।

चीन के गुआंगजौ में आयोजित इस दो दिवसीय बैठक में पाकिस्तान के वित्त सचिव मोहम्मद यूनुस सहित 10 सदस्यों के मंत्रिमंडल ने भाग लिया।मोहम्मद यूनुस ने बैठक के द्वारा मुद्रा तस्करी के खिलाफ पाकिस्तान की ओर से की गई कार्रवाही की भी जानकारी दी।