Go to the profile of  Prabhat Sharma
Prabhat Sharma
1 min read

लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन का चुनाव लड़ने से इंकार, इंदौर सीट पर बनी हुई थी संशय की स्थिति

लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन का चुनाव लड़ने से इंकार, इंदौर सीट पर बनी हुई थी संशय की स्थिति

लोकसभा चुनाव 2019 के करीब आते ही लगभग देश की सभी लोकसभा सीट पर सभी राजनैतिक पार्टियों ने अपने अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। अब सिर्फ कुछ ही सीट बची है जिसपर कांग्रेस तथा भाजपा को अपने अपने उम्मीदवार उतारना बाकी है।

अगर हम बात करे मध्यप्रदेश की तो यहाँ पर कुछ हाई प्रोफाइल सीट्स है जहाँ पर भाजपा और कांग्रेस दोनों ने अपने उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है। टिकट वितरण को लेकर भाजपा और कांग्रेस दोनों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। भाजपा में इस असमंजस की स्थिति को दूर करने के लिए इंदौर से 8 बार से सांसद एवं लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने भाजपा मुख्यालय को पत्र द्वारा सूचित किया कि वे इस लोकसभा चुनाव में चुनाव नहीं लड़ेंगी।

अपने पत्र में उन्होंने कहा:- भाजपा ने आज दिनांक तक इंदौर लोकसभा सीट पर अपना उम्मीदवार घोषित क्यों नहीं किया! यह अनिर्णय की स्थिति क्यों बनी हुई है? संभव है कि पार्टी को निर्णय लेने में संकोच हो रहा है। इंदौर से किसे चुनाव लड़ाना है इसका निर्णय मैंने पार्टी पर छोड़ा था। अतः मैं घोषणा करती हूँ की मुझे अब लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ना है, अतः पार्टी मुक्त मन से निर्णय करें।

इसके साथ सुमित्रा महाजन ने अपने उस खत में अपने साथ जुड़े हुए सभी कार्यकर्ता, इंदौर की जनता और भाजपा का आभार व्यक्त किया तथा पार्टी से निवेदन किया कि पार्टी जल्द ही कोई निर्णय ले।

ताई के नाम से मशहूर महाजन की चुनाव न लड़ने की घोषणा करने के बाद इंदौर शहर से भाजपा के प्रबल उम्मीदवार कैलाश विजयवर्गीय या फिर मालिनी लक्ष्मणसिंह गौड़ हो सकती है। इसके साथ ही राष्ट्रीय कवि सत्यनारायण सतन, शंकर लालवानी ने भी यहाँ से अपनी दावेदारी पार्टी के समक्ष प्रस्तुत की है।