Go to the profile of  Rishabh Verma
Rishabh Verma
1 min read

सुशील मोदी का दावा: लालू ने चारा घोटाले में राहत देने पर नितीश सरकार गिराने का दिया था प्रलोभन

सुशील मोदी का दावा: लालू ने चारा घोटाले में राहत देने पर नितीश सरकार गिराने का दिया था प्रलोभन

लालू यादव पर कई तरह के घोटाले के आरोप लगे है जिनमे से कुछ घोटालों में उन्हें दोषी भी पाया गया है। अब तक तीन मामलों में उन्हें 13.5 साल की सजा का ऐलान किया जा चुका है, और दो मामलों में फैसला आना बाकी है। इसी बीच लालू यादव पर एक और आरोप लगा है भारतीय जनता पार्टी को प्रलोभन देने का। लालू यादव पर यह आरोप बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने लगाया है।

हाल ही में सुशील मोदी ने प्रेस को संबोधित करते हुए लालू प्रसाद यादव पर यह गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने यह दावा किया है कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने भारतीय जनता पार्टी को यह ऑफर दिया था कि अगर उन्हें चारा घोटाले के मामले में छूट दी जाती है या उनके खिलाफ मामले को कमजोर किया जाता है तो वो नितीश कुमार की सरकार को गिराने के लिए तैयार है।

हैरानी की बात यह है जिस समय लालू यादव ने यह ऑफर दिया था उस समय नीतीश-लालू के महागठबंधन की सरकार बिहार पर काबिज थी और भाजपा उनके विपक्ष में बैठी थी। सुशील मोदी ने बताया की पहले तो लालू यादव ने राजद के राज्यसभा सदस्य प्रेमचंद गुप्ता को अरुण जेटली के पास भेजा। गुप्ता ने जेटली से कहा की लालू यादव नितीश की सरकार गिराने के लिए तैयार है बस वो ये चाहते है कि सीबीआई उच्च न्यायलय के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील न करे, और अगर करे तो जाँच एजेंसी का वकील मामले में कमजोर बहस करे ताकि उच्च न्यायालय का फ़ैसला पलटा न जाए और लालू अलग मुकदमे का सामना करने से बच जाएँ।

सुशील मोदी ने बताया की यह मामला तब का है जब झारखंड उच्च न्यायलय ने सीबीआई की चारा घोटाले के 6 मामलों में लालू पर बाकी आरोपियों से अलग मामला चलाने की अर्जी ठुकरा दी थी। जब जेटली ने यह पेशकश हर बार ठुकरा दी तो, सुशील मोदी के मुताबिक, लालू अंत में खुद चल कर जेटली से मिलने पहुँचे। सुशील मोदी के अनुसार जेटली ने यह ऑफर ठुकरा दिया उन्होंने साफ कर दिया कि सीबीआई स्वतंत्र संस्था है, और उनकी सरकार उसके कार्य में कोई दखल नहीं देती।

सुशील मोदी के इस आरोप पर राजद नेता और लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि सुशील मोदी मानसिक रूप से दीवालिया हो गये है। तेजस्वी ने ट्विटर पर दावा किया कि देश के लोग सुशील मोदी का खुलासा सुनकर हँस रहे हैं, और यह प्रेसवार्ता लोकसभा चुनावों में भाजपा के हार के डर को उजागर कर रही है।

Loading...