Go to the profile of  Nikhil Talwaniya
Nikhil Talwaniya
1 min read

नंगी तलवारों से लैस संप्रदाय विशेष के लोगों ने लगाए नारे 'चड्ढा चड्ढी वालों को, गोली मारो सालों को'

प्रतीकात्मक फोटो

नंगी तलवारों से लैस संप्रदाय विशेष के लोगों ने लगाए नारे 'चड्ढा चड्ढी वालों को, गोली मारो सालों को'

देश में इन दिनों हालात कुछ ठीक नजर नहीं आ रहे हैं। हर दिन कुछ ना कुछ ऐसा घटित हो रहा है जो देश में दंगे या किसी सांप्रदायिक विवाद को बढ़ावा देने का काम कर रहा हैं। पहले झारखंड में तबरेज नाम के चोर की लोगों ने पीट - पीट कर हत्या कर दी गई। फिर उत्तर प्रदेश के मेरठ से मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा हिन्दू परिवारों को वहां से डरा धमकाकर पलायन को मजबूर किया जाना और अब देश की राजधानी दिल्ली के हौज काज़ी थाना क्षेत्र में मुस्लिम समुदाय के उद्दंड तत्वों द्वारा आधी रात को मंदिर में घुसकर मूर्तियां तोड़ना और अल्लाह हू अकबर के नारे लगाकर देश की फिजा को ख़राब करना।

2019 लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की प्रचंड जीत और पुनः श्री नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनाने के बाद से ही देश में एक अलग नकारात्मक बदलाव देखने को मिला है। आज हालात यह है कि देश के अलग अलग हिस्सों से सांप्रदायिक हिंसा की ख़बरें आना आम बात हो गई हैं।

हाल ही में सुदर्शन न्यूज़ के ट्विटर अकाउंट पर इन्हीं खबरों से जुड़े कुछ वीडियोज पोस्ट किये गए हैं। जिन्हें देखकर ऐसा लगता है कि कुछ असामाजिक तत्व जान बूझकर देश का माहौल बिगाड़ने और सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ावा देने का काम कर रहे हैं।

पहला वीडियो:

अल्लाह हू अकबर का नारा लगा कर हमला किया गया था माँ दुर्गा के मंदिर पर दिल्ली हौज काज़ी थाना क्षेत्र में..

घटना का सनसनीखेज वीडियो

दूसरा वीडियो:

श्रीनगर जैसे हालात में दिखी दिल्ली.. दिल्ली पुलिस के वाहनों के आगे दिखाया गया कट्टरपंथ का नंगा नाच..

वर्दी दिखी लाचार...

तीसरा वीडियो:

पूरे भारत मे मज़हबी उन्मादियों का खौफनाक रूप सड़को पर..

नंगी तलवारों के साथ लग रहे नारे-

चड्ढा चड्ढी वालों को,

गोली मारो सालों को।

चौथा वीडियो:

उसका असल नाम था फहीम जबकि सबको बताता था संदीप..

काम था नकली दूध से आईसक्रीम बनाना.. कई बच्चों को ये जहर दिन भर खिलाने वाले फहीम से जब खुद उसी की आईसक्रीम को खाने के लिए बोला गया तो उसने मना कर दिया।

इसी तरह के कुछ अन्य वीडियो भी देश के अलग अलग हिस्सों से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। जिन्हें देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि जानबूझ कर संप्रदाय विशेष के लोग देश की फिजा को बिगाड़ने का कार्य कर रहे हैं।

देखें कुछ अन्य वीडियो

इन वीडियो की सत्यता की हम पुष्टि नहीं करते हैं और ना ही इस बात की जानकारी स्पष्ट है कि ये वीडियोज कब के है और किस क्षेत्र के हैं।