Go to the profile of  Punctured Satire
Punctured Satire
1 min read

राजीव गांधी को ‘भ्रष्टाचारी नंबर-1’ कहने पर चुनाव आयोग ने पीएम मोदी को दी क्लीन चिट

राजीव गांधी को ‘भ्रष्टाचारी नंबर-1’ कहने पर चुनाव आयोग ने पीएम मोदी को दी क्लीन चिट

चुनावों के दौरान कई बार नेताओं द्वारा कुछ ऐसा बोल दिया जाता है जिसके कारण आचार संहिता का उल्लंघन हो जाता है। बता दें की हाल ही में कांग्रेस ने आयोग से मोदी द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को भ्रष्टाचारी नंबर-1 कहे जाने की शिकायत दर्ज कराई थी और कहा की इससे आचार संहिता का उल्लंघन हुआ है। बता दे कि इस मामले में भी पीएम मोदी को 8वीं बार क्लीनचिट मिल गयी है। आयोग ने कहा की मोदी जी के इस तरह के बयान से आचार संहिता का उल्लंघन नहीं माना जा सकता है। बता दे की अब तक कांग्रेस ने मोदी और अमित शाह के विरोध में 9 शिकायतें की है।  

पीएम मोदी के इस तरह के बयान को लेकर दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के टीचर्स भी दो भागों में बट गए है और उन्होंने अपनी अपनी प्रतिक्रियाएँ शेयर की है। जिसमे से एक पक्ष के 200 से अधिक टीचर ने आलोचना पत्र लिखा है जिसमे मोदी के बयान को अपमान जनक और झूठा बताया है। वहीं, दूसरी तरफ कुछ टीचर मोदी के पक्ष में है। जो कि राजीव गांधी को भ्रष्ट प्रधानमंत्री मानते है।

जानकारी दे दें की मोदी के 23 अप्रैल को अहमदाबाद में हुए रोड शो और 9 अप्रैल को चित्रदुर्ग में बालाकोट एयर स्ट्राइक पर दिए गए बयान को भी क्लीनचिट दी जा चुकी है।  

इसके अलावा वर्धा और लातूर में पीएम मोदी द्वारा दिए गए बयानों को भी आयोग ने क्लीनचिट दी थी। इन रैलियों में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के वायनाड सीट से चुनाव मैदान में उतरने की आलोचना पीएम मोदी ने की थी और अप्रत्यक्ष रूप से यह कहा की इस संसदीय क्षेत्र में अल्पसंख्यक समुदाय के मतदाताओं की संख्या ज्यादा है। इतना ही नहीं उन्होंने पहली बार लातूर में मतदाताओं से यह अपील की थी कि वह अपना वोट एयर स्ट्राइक करने वाले वीरों को दे, पुलवामा के शहीदों के नाम अपने वोट को समर्पित करें।

Loading...