Go to the profile of  Nikhil Talwaniya
Nikhil Talwaniya
1 min read

स्कूल के समय फीस भरने के रूपये नहीं थे, आज है टीम इंडिया के कप्तान

स्कूल के समय फीस भरने के रूपये नहीं थे, आज है टीम इंडिया के कप्तान

वर्ल्ड कप की शुरुआत हो चुकी है। शुरुआती मुकाबले में ही टीम इंडिया के ओपनर और उपकप्तान रोहित शर्मा ने मैच में बेहतरीन शतक लगाया है और भारतीय टीम को जीत दिलाई है। बुधवार को हुए मैच में  रोहित ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 144 गेंदों पर शानदार 122 रन बनाये। उन्होंने इस दौरान 13 चौके 2 छक्के लगाए।

जानकारी दे दे की भारतीय क्रिकेट टीम के रोहित शर्मा का जीवन चुनौतियों से भरा है । रोहित शर्मा का जन्म 30 अप्रैल 1987 में महाराष्ट्र के नागपुर में गुरुनाथ शर्मा के घर हुआ था उनके पिता एक निजी फर्म में केयर टेकर थे और मां पूर्णिमा हाउसवाइफ थीं।  एक समय था जब उनके परिवार के पास उनकी स्कूल फीस भरने तक के पैसे नहीं होते थे।

डेढ़ साल की उम्र में वह पिता और परिवार के साथ डोंबिवली में एक कमरे के घर में शिफ्ट हो गए थे। उनके छोटे भाई का नाम विशाल शर्मा है।  रोहित के पिता दो बच्चों का खर्च उठाने में असमर्थ थे। इसके लिए रोहित को ज्यादातर समय ग्रैंडपैरेंट्स और अंकल के यहां रहना पड़ता था। केवल वीकेंड में वह अपने माता-पिता से मिलने जाते थे।

बचपन से ही रोहित को क्रिकेट का बहुत शौक था। लेकिन आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण उन्होने अपने सपने को दबा कर रखा। लेकिन उन्होंने क्रिकेट खेलना नहीं छोड़ा। वह अपने अंकल के साथ क्रिकेट को समझते रहे। और जब उनके अंकल को रोहित के क्रिकेट के प्रति जूनून का पता चला तो उन्होंने अपने कुछ दोस्तों के साथ मिलकर कुछ पैसे जमा किये और रोहित को एक छोटी सी क्रिकेट अकादमी में दाखिला करवा दिया। उसके  बाद से ही रोहित शर्मा का क्रिकेट का सफर शुरू हो गया और आज वह भारतीय क्रिकेट में एक शानदार पारी खेल रहे है ।