Go to the profile of  Punctured Satire
Punctured Satire
1 min read

इस बार राहुल गांधी के लिए बड़ी कठिन डगर है अमेठी की, नाराज कांग्रेसी मुस्लिम नेता भी देगा टक्कर

इस बार राहुल गांधी के लिए बड़ी कठिन डगर है अमेठी की, नाराज कांग्रेसी मुस्लिम नेता भी देगा टक्कर

कुछ ही दिन बचे हैं लोकसभा चुनावों में ऐसे में सभी राजनेता अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए प्रयासरत हैं। जीत सुनिश्चित करने के साथ साथ राजनेता अपने प्रतिद्वंदियों को कैसे पटखनी दें इस पर भी पूरा ध्यान रखते हैं। चुनावों को देखते हुए कई हैविवेट सीट पर बहुत ज्यादा चर्चा हो रही है। इन्हीं में से एक सीट है ‘अमेठी’ जहाँ से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी चुनावी मैदान में इस बार भी उतरने वाले है। भाजपा की तरफ से स्मृति ईरानी के चुनाव लड़ने के कारण इस सीट पर मुकाबला पहले से कड़ा था पर अब एक और प्रतिद्वंदी के बढ़ जाने से राहुल गांधी को बड़ा झटका लग गया है।

उत्तरप्रदेश के अमेठी सीट से कांग्रेस पार्टी के नज़दीकी और मुस्लिमों का मुख्य चेहरा माने जाने वाले एक नेता ने कांग्रेस को झटका देते हुए अब राहुल गांधी के विरुद्ध चुनाव के मैदान में उतरने का फैसला किया है। बता दें की अमेठी लोकसभा क्षेत्र में लगभग 6.5 लाख मुस्लिम वोटर हैं और इन्हीं वोटरों के सहारे राहुल अक्सर चुनाव जात्ते आये हैं। अमेठी में राहुल के विरुद्ध चुनाव लड़ने के लिए कांग्रेस छोड़ने वाले हाजी हारून रशीद के पिता हाजी सुल्तान कभी लोकसभा चुनाव में राजीव गांधी और सोनिया गांधी के प्रस्तावक भी रहे चुके हैं।

अमेठी के मुस्लिम नेता हारून के कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विरूद्ध चुनाव लड़ने के निर्णय के बाद इसे अमेठी में कांग्रेस के प्रति मुस्लिमों की नाराजगी के तौर पर देखा जा रहा है। बता दें की राहुल गांधी अमेठी से तीन बार कांग्रेस के सांसद रह चुके हैं इससे पहले राहुल की माँ सोनिया यहाँ से चुनाव लड़ती थीं। सोनिया गांधी ने राहुल गांधी के लिए साल 2004 में ये सीट छोड़ दी थी और उसके बाद राहुल गांधी यहां से लगातार सांसद बन रहे हैं।

अमेठी सीट पर ज्यादा मुश्किल देखते हुए ही कांग्रेस की तरफ से ऐसी भी बातें भी सुनने को मिल रही है की राहुल गांधी अमेठी के साथ साथ केरल की किसी सुरक्षित सीट से भी चुनाव लड़ सकते हैं। देखना दिलचस्प होगा की इतनी मुश्किलों के बाद भी कांग्रेस अपना सबसे पुराना गढ़ बचा पाता है या नहीं।