Go to the profile of  Nikhil Talwaniya
Nikhil Talwaniya
1 min read

मालेगांव बम विस्फोट मामले में पूछताछ के दौरान प्रज्ञा ने कहा, "मुझे कुछ नहीं पता"

मालेगांव बम विस्फोट मामले में पूछताछ के दौरान  प्रज्ञा ने कहा, "मुझे कुछ नहीं पता"

मुंबई की एक विशेष अदालत में 2008 के मालेगांव बम विस्फोट की आरोपी और भोपाल से नवनिर्वाचित भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पेश हुईं। उनका 11 साल पुराने विस्फोट मामले में एनआईए अदालत में अभी भी केस शुरू है। बता दे कि प्रज्ञा की लोकसभा सांसद निर्वाचित होने के उपरांत पहली पेशी है।

प्रज्ञा ठाकुर से सुनवाई में विशेष एनआईए जज ने कुछ सवाल किये जिसमे जज ने पूछा कि जितने भी गवाहों से अब तक पूछताछ हुई है, उससे यह बात सामने आई है कि 29 सितंबर 2008 को वहां विस्‍फोट हुआ था। आपको इस बारे में क्‍या कहना है? इसके उत्तर में प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि मैं कुछ नहीं जानती। जज ने उनसे आगे पूछा कि क्या आपको पता है या आपके वकील ने बताया है कि अब तक कुल कितने गवाहों से पूछताछ हो चुकी है? इस पर उन्होंने फिर से कहा कि, 'मुझे कुछ नहीं पता।'

पिछले साल अक्टूबर में आरोप तय किए जाने के समय वह अदालत में पेश हुई थीं। सोमवार को विशेष अदालत ने प्रज्ञा ठाकुर की इस हफ्ते पेशी से छूट की मांग की याचिका को ख़ारिज कर दिया था। प्रज्ञा ने संसद में अपने निर्वाचन से संबंधित औपचारिकताएं पूरी करने के लिए छूट मांगी थी।

गुरुवार को उनके वकील प्रशांत मागू ने अदालत को जानकरी दी कि उनकी मुवक्किल उच्च रक्तचाप से पीड़ित होने के कारण वे भोपाल से मुंबई तक सफर नहीं कर सकती हैं। ऐसे में अदालत ने पेशी से छूट देकर उन्हें शुक्रवार को पेश होने को कहा था। जज ने कहा था कि, ‘उन्हें पेशी से छूट दी जाती है। लेकिन प्रज्ञा सिंह ठाकुर को शुक्रवार को पेश होना होगा, अन्यथा उन्हें परिणाम भुगतने होंगे।’

प्रज्ञा ठाकुर की नजदीकी एक सहयोगी उपमा ने जानकारी दी कि बुधवार की रात उन्हें पेट में तकलीफ हुयी जिसके चलते प्रज्ञा ठाकुर जी को भोपाल के अस्पताल में भर्ती कराया । उन्हें गुरुवार की सुबह छुट्टी दे दी गई।