Go to the profile of  Nikhil Talwaniya
Nikhil Talwaniya
1 min read

विवादों में फसी फिल्म ‘राम की जन्मभूमि’ के रिलीज का रास्ता साफ़, कल होगी रिलीज़

विवादों में फसी फिल्म ‘राम की जन्मभूमि’ के रिलीज का रास्ता साफ़, कल होगी रिलीज़

राम मंदिर और बाबरी मस्जिद को लेकर अभी तक यह फैसला नहीं हो पाया है की उस भूमि पर राम मंदिर बनेगा की बाबरी मस्जिद बनेगी। इस मुद्दे को लेकर बॉलीवुड में एक फिल्म बनी है। इस फिल्म का नाम ‘राम की जन्मभूमि’ है। यह फिल्म रिलीज़ होने को तैयार थी लेकिन कुछ विपक्षी पार्टी के लोगो ने इसकी रिलीज़ पर रोक लगवा दी थी। लेकिन बता दे अब इस फिल्म के रिलीज़ का रास्ता साफ़ हो चूका है। फ‍िल्‍म 29 मार्च को देशभर में रिलीज़ होगी।

सुप्रीम कोर्ट ने याचिका को खरिज करते हुए इसकी रिलीज़ की हामी भर दी है। इस फिल्म को सेंसर बोर्ड से सर्टिफ़िकेट मिल गया है। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की पुरजोर पैरोकारी कर चुके शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने इस फिल्म की कहानी खुद लिखी है और इसका निर्माण भी किया है। रिजवी ने खुद बताया की फिल्म को सर्टिफिकेट मिल गया है।

सिने क्रस्ट प्रोडक्शन के बैनर तले निर्मित और सनोज मिश्रा के निर्देशन में बनी इस फिल्म में अयोध्‍या स्थित राम की जन्मभूमि पर 1992 में हुई घटनाओं को एक कहानी की तरह प्रस्‍तुत किया गया है।

इस फिल्म की कहानी राम मंदिर आंदोलन और उससे जुड़ी घटनाओं पर आधारित है।  इसके अलावा फिल्म में तीन तलाक और हलाला जैसे विषयों को भी शामिल किया गया है। फिल्म को अयोध्या के कई महत्वपूर्ण स्थलों पर भी फिल्माया गया है।

रिजवी ने बताया की फिल्म के पोस्टर और टीज़र जारी होने के बाद से उन्हें कई धार्मिक संगठनों और अंडरवर्ल्ड से फिल्म को बैन करने की धमकियां मिल चुकी है। सनोज मिश्रा के निर्देशन में बनी इस फिल्म में मनोज जोशी, गोविंद नामदेव, नाजनीज पाटनी और राजवीर सिंह प्रमुख किरदारों में हैं।

Loading...