Go to the profile of  Punctured Satire
Punctured Satire
1 min read

आतंकी संगठन करते हैं कश्मीर पर दुष्प्रचार, कश्मीरी आतंकी मोहम्मद वकार ने किया खुलासा

आतंकी संगठन करते हैं कश्मीर पर दुष्प्रचार, कश्मीरी आतंकी मोहम्मद वकार ने किया खुलासा

कश्मीर में पकड़े गए आतंकियों ने पाकिस्तान में भारत के खिलाफ चल रहे दुष्प्रचार का पर्दाफ़ाश कर दिया है। मीडिया के सामने इन आतंकियों में एक ने भारतीय सेना के बारे में झूठी कहानी सुनाये जाने की बात भी कही है। उसने कहा कि वे इस दुष्प्रचार के चलते आतंकी बने हैं।

पकड़ा गया एक आतंकी का नाम मोहम्मद वकार उर्फ़ आकिब उर्फ़ वकास उर्फ़ छोटा दुजाना है। इसे उत्तरी कश्मीर के पट्टन से ख़ुफ़िया जानकारी मिलने के बाद पकड़ा गया था। इस आतंकी का पकड़ा जाना सुरक्षा बलों के लिए एक बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है। यह आतंकी मुंबई हमले के मास्टरमाइंड जकीउर रहमान लखवी के साथ भी रह चुका है।

जब गुरुवार के दिन मीडिया ने उससे सवाल किये तो उसने पाकिस्तान और लश्कर-ए-तैयबा के द्वारा भारत के बारे में दुष्प्रचार करने की बात को स्वीकार किया। उसने कहा कि उनके द्वारा कहा गया था कि भारतीय फौजें ज्यादतियां करते हैं और औरतों के साथ गलत करते हैं। उसने कहा कि इस दुष्प्रचार के चलते ही वह जिहाद करने के लिए भारत आया था। उनसे बताया कि पिछले पौने दो साल में उसने ऐसा कुछ नही देखा। उसने कहा कि उसने न तो भारतीय सेना को मुसलमानों के घर गिराते देखा और न ही उसे महिलाओं के साथ ज़्यादती करते देखा।

छोटा दुजाना पाकिस्तान के पंजाब प्रांत का रहने वाला है। उसने कहा कि मुझे यहाँ के बारे में बताया गया था कि यहाँ मुसलमानों पर जुल्म होता है। उन्हें नमाज नही पढ़ने दी जाती। भारत की सेना कश्मीर के लोगों पर जुर्म करती है। उसने चार महीने मुज्जफराबाद में हथियार चलाने की ट्रेनिंग लेने की बात भी कबूल की है। वह 2017 में कश्मीर में आकर रहने लगा था। इस दौरान अपने अनुभव के बारे में उसने बताया कि यहाँ मस्जिद में जाने पर कोई रोक नही है और जुल्म की कहानी भी झूठी हैं। उसने कहा उसे जैसा बताया गया था यहाँ वैसे कोई हालात नही हैं। उसने कहा वह यहाँ के हालात देखकर हैरान था।

इस मामले में एसएसपी बारामुला अब्दुल क्यूम ने कहा है कि ऐसा कैसे हो सकता है कि कोई आतंकी कश्मीर आये लेकिन पौने 2 साल तक कोई आतंकी घटना को अंजाम न दे? उन्होंने कहा अभी हम पूछताछ कर रहे हैं। राज्य के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह के अनुसार मोहम्मद वकार को दो दिन पहले एक वाहन के साथ पकड़ा गया था।

पुलिस महानिदेशक के अनुसार लश्कर ने वकार को कोई खास मकसद के लिए कश्मीर भेजा था। वह अपनी प्रोफाइल को लो रखकर आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने में सक्रिय था। पुलिस के अनुसार वह उत्तरी कश्मीर में लश्कर का नेटवर्क मज़बूत करने में लगा था। लेकिन उसके मंसूबों को नाकाम करते हुए पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

पकड़े गए आतंकी के बारे में शक है कि वह लश्कर के नेटवर्क के बारे में बहुत जानकारी रखता है। ऐसे में उसका पकड़ा जाना भारतीय सुरक्षा एजेंसी के लिए एक उपलब्धि है। उसके पकड़े जाने के बाद कश्मीर में पाकिस्तान की ओर से किये जाने वाले आतंकवाद का चेहरा एक बार फिर से सामने आया है और उसकी काली करतूतों का पर्दाफ़ाश हुआ है।