Go to the profile of  Rishabh Verma
Rishabh Verma
1 min read

बीजेपी पर लगे आईटी रेड करवाने के आरोपों पर राजनाथ सिंह ने कहा ‘आचार संहिता लागू है, हम क्या करें?’

बीजेपी पर लगे आईटी रेड करवाने के आरोपों पर राजनाथ सिंह ने कहा ‘आचार संहिता लागू है, हम क्या करें?’

पिछले एक सप्ताह के दौरान इनकम टैक्स विभाग और ED ऑफिस ने कई राजनेताओं और उनके करीबियों के घरों में छापेमारी की है। जिसमे करोड़ो रुपये के साथ साथ कई दस्तावेज़ भी बरामद हुए है। रेड के लिए विपक्ष ने इसे ज़बरदस्ती की गई कार्रवाई कहा है। इस कार्रवाई के लिए विपक्ष दलों ने बीजेपी पर आरोप लगाए है।

इन आरोपों का उत्तर देते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा की - इस छापेमारी में केंद्र सरकार का किसी प्रकार का हाथ नहीं है। एजेंसी यह छापेमारी अपने इनपुट के आधार पर ही कर रही है। इसके लिए सरकार पर दोष लगाना गलत है। यह तो अचानक शुरू नहीं हुआ है। ऐसा कई वर्षों से होता आ रहा है। इस रेड के पीछे किसी तरह की राजनीतिक शक्ति का उपयोग नहीं हुआ है। आचार संहिता देश में लागू है। हम क्या करें?”

राजनाथ सिंह ने आगे अपने इंटरव्यू में बताया कि, “जो एजेंसी आज रेड कर रही है, वही पहले से ही करती आ रही हैं। इन एजेंसी के ऊपर आचार संहिता का नियम लागू नहीं होते हैं। उन्हें जहाँ से जिस तरह का इनपुट प्राप्त होता है, वह उस आधार पर अपनी कार्रवाई शुरू करते हैं। फिर हम कैसे उनको रोके?”

उन्होंने कहा की अगर किसी ने गलत पैसा एकत्रित किया है और वह उसका गलत ढंग से इस्तेमाल करना चाहता है, तो इस परिस्थिति में अपनी-अपनी ज़िम्मेदारी संभालते हुए ये स्वतंत्र संगठन कार्रवाई कर रहे हैं। इसलिए इस कार्यवाही में केंद्र सरकार पर आरोप लगाना सही नहीं है। यह एक तरह की सतत प्रक्रिया है। अगर कोई यह मानता है कि यह किसी के कहने के आधार पर हो रहा है, तो यह कहना न्यायसंगत नहीं है। गृहमंत्रालय केवल उपलब्धता के मुताबिक ही केंद्रीय सुरक्षाकर्मियों को मदद के लिए भेजता है।”

बता दें कि अप्रैल 07, 2019 के दिन मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के क़रीबी सहयोगियों के स्थानों पर छापेमारी की कार्रवाई की गयी थी जिसमें ₹281 करोड़ की नकदी बरामद हुई थी।