Go to the profile of  Prabhat Sharma
Prabhat Sharma
1 min read

पढ़ाने के बहाने मदरसे में ले जा कर 12 साल की बच्ची के साथ मौलवी ने किया ये काम

पढ़ाने के बहाने मदरसे में ले जा कर 12 साल की बच्ची के साथ मौलवी ने किया ये काम

नाबालिग लड़कियों के साथ शारीरिक शोषण और दुष्कर्म जैसी वारदातों पर विराम लगता हुआ नजर नहीं आ रहा है। उत्तरप्रदेश के मेरठ शहर में चलने वाले एक मरदसे के मौलवी द्वारा एक महज 12 साल की नाबालिग के संग दुष्कर्म किये जाने की घटना सामने आई है। हालांकि इस दौरान नाबालिग द्वारा शोर मचा देने पर वहां मौजूद छात्रों ने मौलवी को पकड़ लिया। पर अँधेरे का लाभ उठा वो वहां से भाग निकला। इसके बाद पुलिस ने उसे ढूंढ के पकड़ा और हिरासत में ले लिया।

जिस क्षेत्र में यह पूरा वाक्या पेश आया वहां के एक ग्रामीण के मुताबिक़, इलाके के आखिरी छोर पर एक मदरसा स्थित है, जिसमें उस क्षेत्र के साथ साथ नजदीक के अन्य गांवों के बच्चे भी पढ़ते हैं। बता दें की बलात्कार का आरोपी मौलवी शहीद हर्रा का निवासी है और वह उस मदरसे में बच्चों को पढ़ाता था। मौलवी के पिता का नाम इकबाल है।

इस पूरी घटना के अनुसार शनिवार 8 जून, 2019 के दिन शाम के वक़्त मौलवी बच्ची के घर जा पहुँचा और उसे पढ़ाने का बहाना करते हुए 12 साल की बच्ची को अपने साथ मदरसे में ले गया। मदरसे में ले जा कर मौलवी ने बच्ची को एक कमरे में रखा और बच्ची का बलात्कार किया।

बलात्कार के दौरान पीड़ित बच्ची ने जब शोर मचाना शुरू किया तो मदरसे के अन्य कमरों में मौजूद छात्र उस तरफ दौड़े। जब छात्रों ने 12 साल की बच्ची को उस अवस्था में देखा तब सभी छात्रों को बहुत गुस्सा आया और उन सबने मिल कर उस मौलवी की वहीं पर जमकर पिटाई कर दी।

इस घटना पर उक्त मदरसे में पूरे दिन पंचायत चलती रही और चर्चाओं का दौर चलता रहा। हालांकि पीड़ित बच्ची के परिवार के सदस्यों ने पंचायत पर भरोसा ना करते हुए पुलिस को इस पूरी घटना से अवगत करवाया। खबरों के अनुसार आरोपी मौलवी पर पोक्सो की धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई की गई है।