Go to the profile of  Rishabh Verma
Rishabh Verma
1 min read

आतंकी संगठन ‘इस्लामिक स्टेट जम्मू एंड कश्मीर’ के कमांडर इशफाक सोफी को सेना ने मार गिराया

आतंकी संगठन ‘इस्लामिक स्टेट जम्मू एंड कश्मीर’ के कमांडर इशफाक सोफी को सेना ने मार गिराया

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के साथ सेना का संघर्ष हर रोज जारी है। भारतीय सुरक्षाबलों द्वारा की जा रही कड़ी कार्यवाही में कई आतंकी हर रोज मारे जा रहे हैं। इसी कड़ी में कश्मीर के शोपियां इलाक़े में भारतीय सैन्य बलों ने खूंखार आतंकी समूह इस्लामिक स्टेट जम्मू एंड कश्मीर (आईएसजेके) के मुख्य कमांडर इशफाक अहमद सोफी को मार गिराया है।

बता दें की मारा गया आतंकी इशफाक अहमद सोफी इस्लामिक स्टेट जम्मू एंड कश्मीर नामक आतंकी संगठा के जाकिर मूसा के अलावा दूसरा बड़ा कमांडर माना जाता था। बहरहाल जाकिर मूसा अभी भी भारतीय सेना की गिरफ्त में नहीं आ पाया है पर कुछ दिन पहले उसके पंजाब में छुपे होने की खुफिया सूचना आई थी। उसको पकड़ने के लिए भी सैन्य बल ने दबिश बढ़ा दी है।

आज सुरक्षाबलों के साथ हुए मुठभेड़ में मारा इशफाक अहमद सोफी जम्मू-कश्मीर के सोपोर इलाके का निवासी था। आईएसजेके के इस आतंकी इशफाक अहमद सोफी को इलाके में अब्दुल्ला भाई के नाम से भी पहचाना जाता था। इसे एनकाउंटर के दौरान जम्मू-कश्मीर के शोपियां इलाके में ही मार गिराया गया है। इसके पास से हथियार और गोला बारूद भी मिले हैं। सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने एनकाउंटर के बाद सोपोर के एडिशनल डिप्टी कमिश्नर ने क्षेत्र के सभी स्कूल तथा कॉलेजों को बंद करने का आदेश भी जारी किया है।

इशफाक अहमद सोफी वर्ष 2015 में हरकत-उल-मुजाहिदीन नामक आतंकी संगठन से पहली बार जुड़ा था। इसके एक साल बाद वर्ष 2016 में उसने हरकत-उल-मुजाहिदीन छोड़ दिया और आईएसजेके नामक आतंकी समूह से जुड़ गया। करीब दो साल इस समूह से जुड़े रहने के बाद वो समूह का बड़ा चेहरा बन गया था।