Go to the profile of  Nikhil Talwaniya
Nikhil Talwaniya
1 min read

अमेरिका भी हुआ मोदी का मुरीद, अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा ‘मोदी है तो मुमकिन है’

अमेरिका भी हुआ मोदी का मुरीद, अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा ‘मोदी है तो मुमकिन है’

लोकसभा 2019 के चुनावों में भाजपा की प्रचंड जीत ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है। इसका असर हमें हमारे पड़ोसी राज्यों के साथ विश्व के कई अन्य देशों में भी देखने को मिल रहा है। इतना ही नहीं अमेरिका के विदेश मंत्री ने तो अपने भाषण के दौरान भाजपा के दिए गए नारे को भी दोहरा दिया है। उन्होंने अपने भाषण में पीएम मोदी की तारीफ़ करते हुए कहा “मोदी है तो मुमकिन है।”

बुधवार को आयोजित यूएस इंडिया बिज़नेस काउंसिल के इंडिया आइडिया समिट में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा “मोदी है तो मुमकिन है” अगर इसे अंग्रेजी में कहे तो “Modi Makes it Possible” इसके अलावा उन्होंने कहा की मैं भी भारत और अमेरिका के संबंधों को सुदृढ़ होते हुए देख रहा हूँ।

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने समिट को संबोधित करते हुए कहा, "मैं इस महीने के अंत में नई दिल्ली की यात्रा, पीएम मोदी और उनके नए विदेश मंत्री एस जयशंकर से मिलने के लिए बहुत उत्सुक हूँ।" आपको बता दे कि माइक पोम्पिओ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर से मिलेंगे और भारत तथा अमेरिका के बीच सामरिक भागीदारी के एक महत्वाकांक्षी कार्यसूची पर चर्चा भी करेंगे। पोम्पिओ 24 से 30 जून तक हिंद-प्रशांत क्षेत्र के चार प्रमुख देश भारत, श्रीलंका, जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा कर अमेरिका और इन सभी देशों के बीच व्यापारिक लेन देने को बढ़ावा देने के लिए चर्चा करेंगे।

अपने संबोधन के दौरान पॉम्पियो ने कहा कि दुनिया की सबसे अधिक आबादी वाले लोकतंत्र को सबसे पुरानी डेमोक्रेसी से मिलकर साझा नजरिये पर काम करना चाहिए। साझेदारी, आर्थिक खुलेपन, उदारता और संप्रभुता पर चलते हुए संबंधों को मज़बूती देना होगा।

उन्होंने यह भी कहा की व्यापार मुद्दों पर बातचीत के लिए अमेरिका का रुख खुला है। जिन देशों ने अमेरिकी कंपनियों को ‘उचित और पारस्परिक व्यापार’ करने की अनुमति दी उन्होंने देखा कि अमेरिका उनके लिए ज्यादा सुगम है। ‘मेरा मानना है कि उन्हें वास्तविक अवसर मिले हैं।’

Loading...