Go to the profile of  Prabhat Sharma
Prabhat Sharma
1 min read

धरती पर मंडरा रहा है एक बड़ी तबाही का खतरा, टकरा सकता है एक खतरनाक एस्टेरॉयड

धरती पर मंडरा रहा है एक बड़ी तबाही का खतरा, टकरा सकता है एक खतरनाक एस्टेरॉयड

हाल ही में खबर आयी है कि धरती पर एक बड़ा खतरा मंडरा रहा है। यह बात नासा के प्रमुख जिम ब्रेडेस्टाइन ने जारी की है जिसमे उन्होने बताया है कि धरती एक एस्टेरॉयड से टकरा सकती है। वाशिंगटन के प्लेनेटरी डिफेंस कॉन्फ्रेंस के दौरान ही यह बात बताई। कॉन्फ्रेंस में उन्होंने बताया कि यदि एपोफिस नाम का यह एस्टेरॉयड धरती से टकराता है तो इससे महाप्रलय आ सकता है।

उन्होंने कहा की दक्षिणी यूराल क्षेत्र में 2013 में एक एस्टेरॉयड धरती पर गिरा था जिसने 66 फुट गहरा गढ्ढा कर दिया था और यह एस्टेरॉयड पहले वाले से सात गुना अधिक बड़ा है। इससे यह अंदाजा जा सकता है की यह कितना खतरनाक है।

वैज्ञानिकों ने जानकारी दी की एपोफिस का आकार करीब ढाई सौ मीटर की है और यह धरती की तरफ 37014.91 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से बढ़ रहा है। अपने आकार और गति के कारण ही यह एपोफिस धरती पर तबाही ला सकता है। यदि वह धरती से टकराता है तो करोड़ो लोग मारे जा सकते है।

उन्होंने यह जानकारी भी दी कि यह धरती के पास 13 अप्रैल 2029 को 36 हजार किलोमीटर की दूरी पर रहेगा। और तब यदि इसकी दिशा में थोड़ा सा भी परिवर्तन होता है तो पृथ्वी को बचाना मुश्किल हो जायेगा।

जानकारी दे दें की यह बात आज से लगभग 500 साल पहले अर्थात 16वीं शताब्दी में सदी के महान भविष्यवक्तानास्त्रेदमस(1503-66) ने पृथ्वी पर उल्कापिंड गिरने की भविष्यवाणी भी करी थी।

वर्तमान वैज्ञानिकों ने एपोफिस के धरती पर पहुंचने का वक्त 13 अप्रैल 2029 अर्थात अभी से लेकर करीब दस साल बाद तक का बताया है। बता दे की इससे पहले भी दुनिया में एस्टेरॉयड के टकराने से खतरनाक तबाही हो चुकी है। वैज्ञानिक ने यह भी बताया कि आज से साढ़े 6 करोड़ साल पहले इसी प्रकार एक एस्टेरॉयड भी धरती से टकराया था जिसके कारण ही डायनोसोर धरती से विलुप्त हो गए थे।