Go to the profile of  Prabhat Sharma
Prabhat Sharma
1 min read

महाराष्ट्र: सेना के शहीदों के बच्चों की पूरी पढ़ाई का खर्च उठाएगी सिद्धिविनायक ट्रस्ट

महाराष्ट्र: सेना के शहीदों के बच्चों की पूरी पढ़ाई का खर्च उठाएगी सिद्धिविनायक ट्रस्ट

देश की रक्षा करने के लिए अपने प्राणो की आहुति देने वाले शहीदों के परिवार के लिए सरकार ने भी कई योजनाओं को लागू किया है। सरकार शहीदों के परिवार की भलाई के लिए हर संभव प्रयास कर रही है इन सब से अलग जाकर मुंबई स्थित सिद्धिविनायक मंदिर के ट्रस्ट ने भी एक नई पहल की है जिसके द्वारा शहीदों के बच्चों की LKG से लेकर पोस्ट ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई का खर्च मंदिर का ट्रस्ट उठाएगा।

मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर के ट्रस्ट के ट्रस्टी आदेश बांदेकर ने ज़ी न्यूज़ से बातचीत के दौरान बताया कि आज मंदिर के ट्रस्ट के सभी सदस्यों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की जिसमे यह निर्णय लिया गया कि "महाराष्ट्र से सेना में जो जवान शहीद हुए है उनके बच्चों की पढ़ाई का पूरा खर्च मंदिर ट्रस्ट की ओर से उठाया जायेगा।” बच्चों के LKG से लेकर पोस्ट ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई का खर्च मंदिर उठाएगा। बच्चे का परिवार जिस संस्था में बच्चों का पढ़ना चाहते है उसी संस्था से उनकी पढ़ाई होगी। बच्चे और उनका परिवार संस्था को चुनने के लिए स्वतंत्र होंगे। बच्चों के लिए यह एक तरह से गणपति बप्पा का आशीर्वाद होगा।

उपरोक्त मुद्दे को लेकर मंदिर ट्रस्ट ने महाराष्ट्र सरकार को एक प्रस्ताव भेजा है और अब इस प्रस्ताव पर राज्य सरकार की अनुमति का इंतजार है।

ग़ौरतलब है कि मुंबई में प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर के दर्शन करने के लिए देश विदेश से लोग आते है। रोज़ाना हजारों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन करते है जिसमे देश की कई बड़ी हस्तियां भी शामिल है। मंदिर में पूरे सालभर में करोड़ों रुपयों का चढ़ावा आता है। मंदिर में आये इस चढ़ावे का एक बड़ा हिस्सा सामाजिक कार्यों के लिए उपयोग में लाया जाता है। जानकारी दे दें कि इस बैठक के बाद पुणे की क्वीन्स मैरी संस्था को मंदिर के ट्रस्ट ने 25 लाख रुपए का चेक दिया है। यह संस्था देश के लिए शहीद हुए जवानों के परिवार की भलाई के लिए कार्य करती है।

Loading...