Go to the profile of  Prabhat Sharma
Prabhat Sharma
1 min read

दिल्ली के बाद मुजफ्फरनगर में एक मुस्लिम ने 'अल्लाह हू अकबर' का नारा लगाते हुए की मंदिर में तोड़ फोड़

दिल्ली के बाद मुजफ्फरनगर में एक मुस्लिम ने 'अल्लाह हू अकबर' का नारा लगाते हुए की मंदिर में तोड़ फोड़

दिल्ली में दुर्गा मंदिर में तोड़फोड़ का मामला अभी शांत भी नही हुआ था कि ऐसी ही एक और खबर मुजफ्फरपुर से आ रही है जिसमें हिंदुओं की आस्था पर हमला किया गया है। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में मूसा नाम के एक मुस्लिम युवक ने एक मंदिर में तोड़फोड़ की। उसने मंदिर में लगी हनुमान जी की मूर्ति पर पत्थर से प्रहार किया। इस हमले के कारण मूर्ति के सामने लगा हुआ कांच चूर-चूर हो गया। जैसे ही मंदिर के पुजारी की खबर लगी उसने युवक को पकड़ लिया और फिर पुलिस के हवाले कर दिया।

घटनास्थल पर मौजूद मनोज सैनी ने मीडिया को बताया कि एक शख्स 'अल्लाह हू अकबर' बोलते हुए मंदिर में तोड़फोड़ कर रहा था। उन्होंने बताया कि वह हनुमान जी की मूर्ति को बाहर निकालने का प्रयास कर रहा था। लेकिन उन्होंने मौके पर पहुँच कर उसे पकड़ लिया। उसके बचाव में कुछ ठेले लगाने वाले मुस्लिम भी आये लेकिन उन्होंने उसे पकड़े रखा और फिर पुलिस के हवाले कर दिया।

जब इस घटना की ख़बर हिन्दू संगठन तक पहुंची तो उसके कार्यकर्ताओं ने तत्काल थाने पहुँचकर उसका घेराव कर लिया तथा आरोपी युवक पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने की मांग की। आरोपी युवक पर संगीन धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है तथा उसे जेल भेजने की तैयारी शुरू कर दी गई है। पुलिस मूसा की छानबीन कर रही है। बताया जा रहा है कि वह बुलंदशहर जनपद का निवासी है।

यह मामला खतौली कोतवाली क्षेत्र का है। यहाँ के हनुमान मंदिर में मूसा नाम के मुस्लिम युवक ने पत्थर से हनुमान जी की मूर्ति तोड़ने का असफल प्रयास किया। पत्थर से शीशा तो टूट गया लेकिन मूर्ति को कोई नुकसान नही पहुंचा है। शीशे के टूटने की आवाज़ सुनकर मंदिर का पुजारी तुरंत हरकत में आ गया और उसने युवक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया।

सीओ आशीष प्रताप के अनुसार सुबह के समय पुजारी और एक अन्य व्यक्ति मनोज यहाँ पर पूजा पाठ कर रहे थे तभी एक युवक वहां पत्थर लेकर आया और अपमान जनक टिप्पणी करने लगा। बाद में उसे पकड़ किया गया। जब पुलिस ने उससे पूछताछ की तो उसने अपना नाम मूसा बताया और कहा कि वह बुलंदशहर खुर्जा का रहने वाला है। लोगों की धार्मिक भावना को ठेस पहुँचाने तथा मूर्ति खंडित करने के प्रयास के कारण इसे गंभीर धाराएं लगाकर जेल भेजा जा रहा है। पुलिस इस युवक के बारे में और जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है।