Go to the profile of  Punctured Satire
Punctured Satire
1 min read

इजरायली शराब कंपनी ने बीयर की बोतल पर छापी महात्मा गांधी की तस्वीर

इजरायली शराब कंपनी ने बीयर की बोतल पर छापी महात्मा गांधी की तस्वीर

महात्मा गांधी की फोटो को आपने भारतीय नोटों पर देखा है लेकिन महात्मा गांधी की फोटो को इजराइल की एक शराब बनाने वाली कम्पनी माका ब्रेवरी ने अपनी बीयर की बोतलों पर भी छाप दिया है। जिस कारण अब विवाद बढ़ने लग गया  है।

इस मामले में केरल में अवस्थित महात्मा गांधी नेशनल फ़ाउंडेशन के चेयरमैन एबीजे जोशे ने की  कोर्ट में शिकायत दर्ज करवाई है। इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस पर कार्रवाई करने की भी अपील की है।

महात्मा गांधी नेशनल फ़ाउंडेशन के चेयरमैन एबीजे जोशे ने कहा है कि यह राष्ट्रपिता का अपमान है। वह शराब बंदी के हिमायती रहे है। इतना ही नहीं उस चित्रकार पर भी कार्रवाई करने के लिए जोशे ने इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से भी मांग की है।

इसका बीयर का एक वीडियो सोशल साइट टिकटॉक पर आया है जो की काफी वायरल भी हुआ। इस वीडियो में बीयर की बोतल पर गांधी जी की काले चश्मे और टीशर्ट पहनी हुई तस्वीर छपी हुई थी।

एबीजे जोशे के एक दोस्त जो की इजराइल के रहने वाले है ने यह वीडियो जोशे को भेजा। इस वीडियो को बनाने वाले मुंसोन ने भी बीयर की बोतल पर गांधी जी की फोटो छपे होने पर हैरानी जताई।

बता दें की इस विवादित चित्र को इजराइल के अमित शिमोनी नाम के कलाकार ने बनाया है। वह एक हिपोस्टोरी नामक प्रोजेक्ट पर कार्य कर रहे हैं जिसमें वह दुनिया की नामी शख़्सियतों की तस्वीर को मॉडर्न ट्विस्ट देते हुए बनाते हैं।

सिमोन ने बताया कि इस प्रोजेक्ट का उद्देश्य आज के युवा को महान लोगों के विषय में जानने और उनकी विचारधारा के प्रति आकर्षित करना है। वह भारत में तीन बार आ चुके है और वह गांधी जी का भी आदर करते है। गांधी को उन्होंने मार्टिन लूथर किंग और अल्बर्ट आइनस्टाइन के समकक्ष ही खड़ा किया है।

दरअसल अमित सिमोनी के इस प्रोजेक्ट से माका ब्रीवरीज कंपनी ने टाइअप किया था। इस कारण ही इजराइल के स्वतंत्रता दिवस 14 मई के अवसर पर उन्होंने इजराइल की इस कंपनी हेतु दुनिया के महान लोगों के चित्र बनाये थे।

सिमोनी ने बताया कि एक भारतीय शैली की बीयर माका ब्रीवरीज के पास थी और उसके लिए ही कंपनी ने गांधी का चित्र बनाने को कहा था। उन्होंने बताया कि जब उन्होंने यह चित्र बनाया तो उन्हें नहीं पता था की वह कोई अपराध करने वाले है।