Go to the profile of  Punctured Satire
Punctured Satire
1 min read

ये कैसी दोस्ती: पाकिस्तानी लड़कियों को खरीदकर वेश्यावृत्ति में धकेल रहे हैं चीनी

ये कैसी दोस्ती: पाकिस्तानी लड़कियों को खरीदकर वेश्यावृत्ति में धकेल रहे हैं चीनी

वैसे तो पाकिस्तान और चीन की दोस्ती के किस्से जगजाहिर हैं फिर वो चाहे आर्थिक रूप से हों या आतंक की सरपरस्ती के लिए ही क्यों ना हों, चीन हमेशा पाकिस्तान समर्थक देश रहा है।

पिछले कई दिनों से यह ख़बरें गुबार पर है कि पाकिस्तान के लोग शादी ने नाम पर अपनी लड़कियों को चीनी लोगों को बेच रहे हैं और चीन में उन लड़कियों से देह व्यापार का घिनोना काम करवाया जा रहा है।

हाल ही में एक पाकिस्तानी महिला नताशा मसीह (19) के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है। नताशा के मुताबिक उसका पति एक चीनी व्यक्ति है जिसे उसके परिवार ने शादी के नाम पर बेच दिया था और वो अब उसे बहुत प्रताड़ित कर रहा था।आखिरकार नताशा की हिम्मत टूट गई और उसने अपनी आपबीती मां को सुनाई और उनसे उसे घर लाने की गुहार लगाई।

नताशा के अनुसार, उसके पति ने उसे चीन के होटल में छिपा दिया था और उसे कई हफ्तों से गैर मर्दो के साथ जिस्मानी संबंध बनाने के लिए मजबूर किया जा रहा था। उसने बताया कि उसके पति ने उसे बताया, ‘मैंने तुम्हें पाकिस्तान में खरीदा है. तुम मेरी हो. तुम मेरी संपत्ति हो.’

यह आपबीती सिर्फ नताशा की नहीं है उन बल्कि सैकड़ों पाकिस्तानी लड़कियों की है। जिन्हें उनके ही परिवार के लोगों ने चीनी पुरुषों से शादी के नाम पर बेच दिया है।

पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी ने हाल के सप्ताह में छापेमारी और गिरफ्तारी कर तस्करी के ऐसे कई नेटवर्क का पता लगाया है जहां लड़कियों के परिवारों को बताया जाता है कि उनकी बेटियों की बड़े व्यापारियों से शादी कराई जाएगी और चीन में उन्हें अच्छा जीवन दिया जायेगा।

मीडिया सूत्रों के मुताबिक, नाम गुप्त रखने की शर्त पर दो अधिकारियों ने बताया कि इस मामले की जाँच करने वाले वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने इस तस्करी के बारे में चुप रहने और मीडिया से दूर रहने के आदेश दिए हैं, क्योंकि वे चीन और पाक के घनिष्ट आर्थिक संबंधों को खतरे में नहीं डालना चाहते हैं।