Go to the profile of  Rishabh Verma
Rishabh Verma
1 min read

भारत ने कश्मीर में होने वाले LoC ट्रेड पर लगाया रोक, पाकिस्तान ने बौखलाहट में जारी किया बयान

भारत ने कश्मीर में होने वाले LoC ट्रेड पर लगाया रोक, पाकिस्तान ने बौखलाहट में जारी किया बयान

भारत पाकिस्तान के मध्य सम्बन्ध कभी भी बेहतर नहीं रहे हैं पर इसी साल के फरवरी महीने में हुए पुलवामा आतंकी हमले के बाद से दोनों देशों के मध्य रिश्ते बहुत बुरे दौर से गुजर रहे हैं। इस आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान पर चौतरफा दवाब बनाने के लिए ना सिर्फ एयर स्ट्राइक किया बल्कि कूटनीतिक स्तर पर भी कई बड़े निर्णय लिए जिसने पाकिस्तान की कमर तोड़ कर रख दी। इसी कड़ी में भारत ने हाल ही में पाकिस्तान के साथ होने वाले सभी कारोबार को बंद करने का निर्णय लिया।

पाकिस्तान के साथ होने वाले सभी कारोबार को बंद करने के निर्णय से पाकिस्तान बुरी तरह बौखला गया है। इस विषय पर पाकिस्तान ने भारत पर आरोप लगाया है की यह कार्रवाई 'आधारहीन आरोपों' पर लगाई गई है। बता दें की भारत ने आरोप लगाया था की पाकिस्तान में बैठे कुछ अराजक तत्व अवैध हथियारों, मादक पदार्थों और फेक करंसी आदि के काले कारोबार के लिए LoC ट्रेड रूट का इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि पाकिस्तान ने भारत के इस आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा की ऐसा कुछ नहीं है और यह आरोप आधारहीन है।

बहरहाल भारत द्वारा लिए गए इस निर्णय पर पाकिस्तान ने भारत को सलाह दिया है कि उसे एकतरफा निर्णयों को लेने से बचना चाहिए और मसलों को सुलझाने के लिए सृजनात्मक तरीकों को अपनाना चाहिए। इसी बाबत पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने एक संदेश भी जारी की है जिसमे कहा गया है की ‘पाकिस्तान भारत के LoC ट्रेड को रोकने के एकतरफा फैसले की निंदा करता है और उसके गलत इस्तेमाल को लेकर जो आरोप लगाए गए हैं उन्हें भी सिरे से खारिज करता है। भारत का यह आरोप कि LoC ट्रेड रूट को अराजक तत्व अवैध हथियारों, मादक पदार्थों और फेक करंसी आदि के काले कारोबार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है, भी निराधार है। हम भारत से अपील करते हैं कि एकतरफा फैसले लेने से बचें और विवादित मुद्दों को सुलझाने के लिए थोड़ा सृजनात्मक रवैया अपनाएं।'

पाकिस्तान ने बौखला कर यह बयान तब दिया है जब इसके कुछ ही दिन पहले भारतीय गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर में LoC ट्रेड को सस्पेंड रखने का आदेश जारी किया। इससे पहले LoC ट्रेड का यह कारोबार दो केंद्रों के माध्यम से होता था जो सलमाबाद (उरी) जिला बारामूला और चक्कन दा बाद जिला पुंछ में स्थित है। यहाँ कारोबार एक हफ्ते में चार दिन होता है और यह वस्तु विनिमय प्रणाली पर आधारित होता है और कोई शुल्क भी नहीं लगता है।

Loading...