Go to the profile of  Punctured Satire
Punctured Satire
1 min read

खाद्य सुरक्षा योजना के तहत चावल लेने गई आदिवासी महिला के साथ सरपंच के पति ने किया बलात्कार

खाद्य सुरक्षा योजना के तहत चावल लेने गई आदिवासी महिला के साथ सरपंच के पति ने किया बलात्कार

जब सत्ता में बैठे लोग ही महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार करे और बलात्कार करने की कोशिश करेंगे तो जनता का क्या होगा। ओडिशा का एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमे एक सरपंच के पति ने अपने ही गाँव में रहने वाली आदिवासी महिला को पंचायत कार्यालय की छत पर बुलाकर महिला के साथ बलात्कार किया।

ओडिशा राज्य के सुंदरगढ़ जिले की झिरपानी पंचायत में रहने वाली एक 20 वर्षीय महिला ने अपने ही गांव की सरपंच प्रभा के पति अजय और उसके साथियों के ऊपर बलात्कार करने का आरोप लगाया है। महिला ने बताया कि वह राज्य सरकार की खाद्य सुरक्षा योजना के तहत मिलने वाले चावल लेने पंचायत भवन गई थी तो सरपंच के पति अजय ने कल आने को कहा था। जब वह 4 जुलाई को चावल लेने पंचायत भवन पहुंची तो उसे सरपंच के पति और उसके साथियों ने छत पर बुलाया और उसके साथ बलात्कार किया। बलात्कार करने के बाद सभी आरोपियों ने महिला को धमकी भी दी।

जब महिला ने पति को बताया तो पति ने इस पूरे मामले में समाजिक कलंक के डर से चुप रहने की सलाह दी, वही महिला के चाचा ने पुलिस में शिकायत करने की सलाह दी तब जाकर महिला ने पुलिस थाने में शिकायत की।

महिला की शिकायत पर झिरपानी के निरीक्षक-प्रभारी रायसेन मुर्मू उक्त आरोपियों के खिलाफ कई धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल सरपंच का पति अजय फरार है जिसकी तलाश पुलिस कर रही है।

जानकारी दे दें कि ओडिशा राज्य में विगत तीन वर्षों में बलात्कार के मामलों की संख्याओं में वृद्धि हो रही है। गृह विभाग के आकड़ों के अनुसार 2016 में 2,144 बलात्कार के मामले दर्ज किए गए, जो 2017 में 2,221 और पिछले साल 2,502 हो गए। इस साल जनवरी से मार्च के बीच पुलिस ने 552 बलात्कार के मामले दर्ज किए हैं।