Go to the profile of  Punctured Satire
Punctured Satire
1 min read

पाकिस्तानी पीएम इमरान खान को नहीं मालूम जर्मनी और जापान की लोकेशन, दुनिया भर में उड़ा मज़ाक

पाकिस्तानी पीएम इमरान खान को नहीं मालूम जर्मनी और जापान की लोकेशन, दुनिया भर में उड़ा मज़ाक

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान विदेशी मेहमानों के सामने दिए गए अपने एक बयान के कारण सोशल मीडिया पर हंसी का पात्र बन गए हैं। इसमें कई लोग तो खुद उनके देश के ही हैं। एक व्यक्ति जिसका नाम सैयद तलत हुसैन हैं ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पाक प्रधानमंत्री इमरान खान का एक वीडियो शेयर किया था। इस वीडियो में वे ऐसा बोलते हुए दिखे कि जर्मनी और जापान की सीमा एक दूसरे से मिलती है। अपने ट्विटर अकाउंट के अनुसार वीडियो शेयर करने वाला शख्स लेखक और पत्रकार है।

उसने अपने ट्वीट में इमरान खान को निशाना बनाते हुए लिखा “जापान प्रशांत महासागर में स्थित पूर्वी एशिया का एक द्वीपीय देश है। जर्मनी यूरोप के केंद्र में है। दूसरे विश्व युद्ध के समय उनकी लोकेशन एक थी जहाँ वे एक दूसरे के सहयोगी थे। लेकिन पीएम इमरान अलग ही सोचते हैं और इंटरनेशनल ऑडियंस को बताते हैं।”

सोशल मीडिया पर इमरान खान के इस वीडियो के आने के बाद इमरान का हर तरफ मज़ाक बनाया जा रहा है। उनकी हंसी उड़ाने में खुद उनके देश के लोग सबसे आगे हैं। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के प्रमुख बिलावल भुट्टो ने उनके इस वीडियो के जवाब में ट्विटर पर ही लिखा “हमारे प्रधानमंत्री को लगता है जर्मनी और जापान की सीमाएं एक दूसरे से मिली हुई हैं। ये कितना शर्मनाक है! जब आप ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में लोगों को इसलिए आने देते हो क्योंकि वे क्रिकेट खेल सकते हैं।”

बिलावल भुट्टो जरदारी के इस ट्वीट को नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने भी रीट्वीट किया है। कुछ भारतीयों ने चुटकी लेते हुए “और इन्हें कश्मीर चाहिए” यह भी लिख दिया।

कुछ लोग प्रधानमंत्री इमरान खान का बचाव करते हुए भी नजर आ रहे हैं। वे इसे स्लिप ऑफ़ टंग या जुबान फिसलना कह रहे हैं। उनके अनुसार शायद प्रधानमंत्री फ़्रांस और जर्मनी की बात कर रहे हों लेकिन जुबान से कुछ और निकल गया हो। पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री हिना रब्बानी ने इस मामले में पाक प्रधानमंत्री को आड़े हाथों लिया। उन्होंने इस मामले को नेशनल असेम्बली में उठाया तथा कहा कि प्रधानमंत्री को न तो तो दुनिया का भूगोल पता है और न ही इतिहास। हिना रब्बानी ने कहा कि इस तरह प्रधानमंत्री इमरान ने दुनिया के सामने पाकिस्तान को शर्मसार किया है। उन्होंने इमरान खान से जवाब माँगा और कहा कि बताएं कब जापान और जर्मनी सीमाएं एक दूसरे से मिलती थीं।

इमरान खान के इस वीडियो को लेकर पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शेरीन माजरी ने उनका बचाव किया है। उनके अनुसार प्रधानमंत्री के अधूरे वीडियो को लेकर उनका मज़ाक बनाया जा रहा है। उन्होंने इसे महज जुबान का फिसलना करार दिया है।

एक अन्य बयान के कारण भी इमरान खान को पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। इस बयान में उन्होंने कह दिया था कि पूर्व में पाकिस्तानी जमीन का प्रयोग ईरान में आतंकी हमलों के लिए आतंकवादियों के द्वारा किया जाता रहा है। ऐसा बयान उन्होंने ईरान के राष्ट्रपति के सामने ही दे दिया था। उनके इस बयान को वहां के सांसदों ने बहुत ज़्यादा शर्मनाक कहा है। उनके अनुसार अब तक किसी भी पीएम ने इस तरह का शर्मनाक बयान नही दिया है।