Go to the profile of  Rishabh Verma
Rishabh Verma
1 min read

F-21 फाइटर विमान जिसे अमेरिका सिर्फ भारत को देना चाहता है जानिये उसकी खासियत के बारे में

F-21 फाइटर विमान जिसे अमेरिका सिर्फ भारत को देना चाहता है जानिये उसकी खासियत के बारे में

भारत को जल्द ही मिल सकते है अत्याधुनिक लड़ाकू विमान। अमेरिका के जेट F-16 से काफी ज्यादा एडवांस और अत्याधुनिक F-21 विमान है। बालाकोट पर की गई एयर स्ट्राइक के बाद तनाव के माहौल को देखते हुए भारत बड़े रक्षा सौदे करने के लिए तैयार हो गया है। आपको ये जानकार बेहद ख़ुशी होगी कि अमेरिकी रक्षा कंपनी ने अत्याधुनिक F-21 विमान सिर्फ भारत को ही बेचने की पेशकश की है।

विमान कंपनी लॉकहीड मार्टिन के एक अधिकारी ने कहा कि अगर भारत 114 लड़ाकू विमानों का ऑर्डर देता है तो सिर्फ उसी को यह विमान दिए जाएंगे अन्य किसी भी मुल्क को ऐसे फाइटर जेट नहीं दिए जाएंगे । F-21 विमान को भारत की जरूरतों के मुताबिक ही तैयार किया गया है।

F-21 विमान में लगा रडार पिछले F-16 विमान की तुलना में ज्यादा ताकतवर है । F-21 विमान के जरिए कम ईंधन में ज्यादा दूरी तय की जा सकती है साथ ही इसकी क्षमता इतनी ज्यादा है जिसके जरिए वजनी हथियारों को भी इसमें लेकर जाया जा सकता है । F-21 फाइटर से किसी टारगेट को ध्वस्त करने में ज्यादा आसानी होगी क्योंकि इसमें एडवांस इलेक्ट्रॉनिक वॉर फेयर सिस्टम लगा हुआ है।  F-21 फाइटर विमान जमीन और आकाश दोनों पर कार्रवाई करने में सक्षम है।

अमेरिकी विमान कंपनी ने कहा कि अगर लॉकहीड को करार मिला तो वह भारत के टाटा ग्रुप के साथ F-21 अत्याधुनिक सेंटर बनाएगी । इससे भारत में रक्षा निर्माण का ढांचा तैयार करने में मदद मिलेगी । भारत सरकार और वायुसेना ने पड़ोसी देशो के साथ तनाव को देखते हुए नये फाइटर विमान खरीदने की नीति बनाई है । जिसके चलते आधुनिक राफेल की पहली किस्त सितंबर में भारत आ रही है, वहीं भारत अब F-21 के करार को अंतिम रूप देने में लगा है । इसके लिए भारत करीब 18 अरब डॉलर खर्च करने को तैयार है। F-21 के करार होने के साथ ही यह भारत का सबसे बड़ा रक्षा सौदा हो सकता है ।